सशस्त्र सेना चिकित्सा महाविद्यालय

सशस्त्र सेना चिकित्सा महाविद्यालय भारत की एक प्रमुख चिकित्सा संस्थान है जो शिक्षा और अनुसंधान के उत्कृष्ट केंद्र के रूप में स्वीकृत है। यह महाविद्यालय स्नातक और स्नातकोत्तर चिकित्सा तथा नर्सिंग छात्रों को प्रशिक्षण प्रदान करने के साथ – साथ रक्षा सेवाओं में जीविका (करियर) बनाने की संभावनाओं को भी सुनिश्चित करता है।

इस संस्थान को 01 मई 1948 में विभिन्न रक्षा चिकित्सा संगठनों के एकीकरण द्वारा बी सी रॉय समिति की सिफारिशों पर स्थापित किया गया था। भारतीय सशस्त्र सेनाओं में चिकित्सा अधिकारियों की दीर्घकालीन तथा नियमित भर्ती करने के लिए 04 अगस्त 1962 को एएफएमसी का “स्नातक विंग” स्थापित किया गया था। यह संस्थान वर्तमान में महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय से संबद्ध है और एमसीआई द्वारा स्नातक और विभिन्न स्नातकोत्तर चिकित्सा पाठ्यक्रम आयोजित करने के लिए भी मान्यता-प्राप्त है।

पुरस्कार एवं उपलब्धि

सम्मेलन

अधिक पढ़ें

हमारा चयन क्यों ?

शहर के मध्य में स्थित

खैर सुसज्जित स्टूडियो और कक्षाओं

खैर पुस्तकालय

अनुभवी संकाय

क्या छात्र कहते हैं?

शासन प्रबंध

प्रवेश

पाठ्यक्रम

अतिरिक्त पाठयक्रम गतिविधियां